Thursday, December 25, 2008

बुलंद होसले


हाल ही मे स्पिन अकेडमी द्वारा आयोजित एक डांस शो देखने का अवसर मिला । मुंबई की ये संस्था जो हमारे शहर में आयी और कई स्कूल के ५००-५५० बच्चो को चुनकर उन्हें मात्र १५ दिनों के अंदर उन्हें डांस शो के लिए तैयार कर दिया । डांस शो तो बहुत से देखे है लेकिन इस शो में कुछ अलग ही बात थी ,जो मैं लिखने के लिए मजबूर हो गयी हूँ।

अलग इसलिए क्यूंकि इसमे एक डांस-परफॉर्मेंस नेत्रहीन बच्चो की थी । जब ये बच्चे मंच पर आए तो इन्हे क्या पता था कि उन्हें कितने लोग देख रहे है । तालियों की गडगडाहट से पूरा प्रांगन गूंज उठा ।उन्हें अहसास करवाया गया कि तुम मस्त होकर नाचो , हम इतने सारे लोग तुम्हारे होसलो को बढ़ाने के लिए तुम्हारे साथ है। वे एक अंग से अक्षम बच्चे मस्ती से झूम रहे थे। उन्हें देखकर अक्षम और सक्षम बच्चो में अंतर कर पाना मुश्किल था । उनमे सक्षम बच्चो को मात देने का होसला जो था। उन्हें सिर्फ़ और सिर्फ़ तालियों की गडगडाहट का अहसास था। वे बच्चे कही से भी अक्षम नही थे ,उनके होसले जो बुलंद थे।

कई लोग तो बीच में ही खड़े होकर उनका तालियों से होसला बढ़ा रहे थे। जब उनकी डांस-परफॉर्मेंस समाप्त हुई तो उनके सम्मान में लोगो ने दोबारा अपनी कुर्सी से उठकर ढेर सारी तालियों से उनका स्वागत किया । उस समय उन बच्चो की शक्ल पर खुशी, आत्मसम्मान और संतोष के भावः साफ़ झलक रहे थे मानो कह रहे हो -हम किसी से कम नहीं । फ्लाईंग -किस देते हुए बच्चे मंच छोड़ रहे थे। साथ ही हमारे दिलों को भी साथ ले जा रहे थे। अपनी एकअमित छाप हम सबपर छोडकर ......

पूरा वातावरण तालियों की गडगडाहट से गूंज रहा था। दिल को छू लेने वाली इस परफॉर्मेंस को देखकर मेरी ऑंखें खुशी और कहीं रंज से नम थी। दिल पर एक बोझ था कि भगवन ने इन मासूमों के साथ कहीं न कहीं तो नाइंसाफी कर ही दी है। लेकिन उनकी हिम्मत और होसलें को देखकर मन को झटक दिया कि इन मासूमों ने तो भगवान् को भी हराकर रख दिया है......

कौन कहता है मंजिल मिल नही सकती
खुदा भी ख़ुद चलकर आयेगा गर होसले बुलंद हों........

पूनम अग्रवाल ......

18 comments:

अक्षय-मन said...

बहुत ही अच्छा लगा पढ़कर........कुछ पंक्तियाँ आपसे मिले होसलों के लिए...
सही कहा आपने........
कौन कहता है मंजिल मिल नही सकती
खुदा भी ख़ुद चलकर आयेगा गर होसले बुलंद हों........
हर दरख्त,वो दुखती रग इक दुआ बन जायेगी
खुदा की रहनुमाई में छाव बन छा जायेगी
क्या बिगाड़ेगा कुछ नसीब अपना
शाख-शाख जब होंसलों की अस्ल बन जायेगी


अक्षय-मन

विनय said...

बहुत ख़ूब

---
चाँद, बादल और शाम
http://prajapativinay.blogspot.com/

राज भाटिय़ा said...

बहुत अच्छा लगा, पहले तो मेने सोचा यह केसा अनोखा डांस, लेकिन पुरा लेख पढ कर सब समझ गया. सच है होस्सले बुलंद हो तो कोई काम मुस्किल नही. इन बच्चो को मेरा भी आशिर्वाद.
धन्यवाद

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

कौन कहता है मंजिल मिल नही सकती
खुदा भी ख़ुद चलकर आयेगा गर होसले बुलंद हों........
वे बच्चे कही से भी अक्षम नही थे ,उनके होसले जो बुलंद थे।
***FANTASTIC

PLEASE VISIT MY BLOG...........

RIYA said...

dats a wonderful writtem part of ur blog....thank u to write bout my show on ur blog

नव्‍यवेश नवराही said...

दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है.
बस उसे करने का हौसला होना चाहिए

पशुपति शर्मा said...

achchha laga ye post dekh kar... halanki mujhe ye jaankaree nahin mil payee kee show kab aur kahan hua tha... lekin bavjud iske apkee najar is prastuti par gayee aur aapne ham sabhee se share kiya sadhuvad.

mewithmysolitude..... said...

quite sensitive.....
perhaps i'd feel that sense after the experience as u've experienced.....
anyways its gud to knw that u r a genius painter too.....thats the one thing i regret not being able to do......

अल्पना वर्मा said...

thank for such beautiful post.
aap bahut hi lucky hain jo yah adbhut dance show dekh paayin.
sach mein un bachchon ko jinhone train kiya hoga ve sab bhi badhayee ke haqdaar hain.

aur ye sabhi bachchey bhi..ishwar unke hauske aisey hi buland rakhey.
hausla hai to kisi bhi disability ke hotey hue bhi ya sabhi bahut kuchh kar saktey hain.

rahul kumar said...

aachchha anubhav hai.....

Razigan said...

versatile!!........

M.A.Sharma "सेहर" said...

कौन कहता है मंजिल मिल नही सकती
खुदा भी ख़ुद चलकर आयेगा गर होसले बुलंद हों........

Very well said .

You have a good taste to understand these lovely things.

Stay Blessed !!

M.A.Sharma "सेहर" said...

कौन कहता है मंजिल मिल नही सकती
खुदा भी ख़ुद चलकर आयेगा गर होसले बुलंद हों........

Very well said .

You have a good taste to understand these lovely things.

Stay Blessed !!

Priya said...

aapka blog aapke vicharo jitna hi khoobsoorat hai..... achcha laga aaj aapka blog padh kar

Anonymous said...

Hi, as you may already discovered I am new here.
Hope to get any assistance from you if I will have some quesitons.
Thanks in advance and good luck! :)

Anonymous said...

Great stuff here, definitely going to check it out later :)

YUSRAN said...

अभिवादन, amazing , i like
http://yusdinu.blogspot.com

Anonymous said...

Nice article, thank you! I really like it.